संदेश

Bharat Mahima Swadhyay | Class 10Th Poem 1 | Mr. Suryawanshi | भारत महिमा स्वाध्याय कक्षा दसवीं स्वाध्याय

चित्र
  १. भारत महिमा स्वाध्याय / 1. Bharat Mahima Swadhyay MrSuryawanshi.Com नमस्ते पाठकों, इस ब्लॉग में कक्षा १० वीं की पहली कविता भारत महिमा का स्वाध्याय ( 1. Bharat Mahima Swadhyay | Class 10th ) दिया गया है । * सूचना के अनुसार कृतियाँ कीजिए :- (१) निम्‍नलिखित पंक्तियों का तात्‍पर्य लिखिए : सबसे पहले हमें तात्पर्य लिखने के लिए कहा गया है । तात्पर्य अर्थात इन पद्यांशों से कवि कहना क्या चाहते हैं । १. कहीं से हम आए थे नहीं .................................... उत्तर: "कहीं से हम आए थे नहीं..." का तात्पर्य यह है कि हम किसी अन्य स्थान से नहीं आए हैं बल्कि हमारी उत्पत्ति और अस्तित्व यहीं पर है । इसका अर्थ यह है कि हमारी जड़ें, हमारी संस्कृति और हमारी पहचान इस धरती से ही हैं । हम किसी बाहरी स्थान या संस्कृति से नहीं आए हैं बल्कि हम इस भूमि के प्राकृतिक और मौलिक अंग हैं । २. वही हम दिव्य आर्य संतान .................................... उत्तर: यह पंक्ति हमें हमारी पहचान और विरासत का स्मरण कराती है । यह बताती है कि हमारे भीतर वही विशेषताएँ और गुण विद्यमान हैं जो हमारे पूर्वजों में थे ।

मन कविता स्वाध्याय [ 4. Man Poem Question Answer Class 10th Hindi]

चित्र
 मन कविता स्वाध्याय  नमस्ते पाठकों,  इस ब्लॉग में मन कविता का स्वध्याय [ 4. Man Poem Class 10Th ] दिया गया है । मन कविता कक्षा १० वीं कविता है । मन कविता के प्रश्न उत्तर आपकी सहायता जरूर करेंगे ।  मन कविता प्रश्न उत्तर | Mr. Suryawanshi  पहला प्रश्न हमें संदेश लिखने के लिए है ।  प्रश्न: १) निम्नलिखित हाइकु द्वारा मिलने वाला संदेश १) करते जाओ पाने की मत सोचो जीवन सरा । उत्तर: " करते जाओ पाने की मत सोचो जीवन सरा । " इस हाइकु से कवि हमें यह संदेश देना चाहते है कि हमें संपूर्ण जीवन बिना पाने की चाह रखते हुए कार्य करते रहना है ।    २) भीतरी कुंठा नयनों के द्वार से आई बाहर ।  उत्तर:  " भीतरी कुंठा नयनों के द्वार से आई बाहर । " इस हाइकु से हमें संदेश मिलता है कि व्यक्ति की परेशानी, उसका दुख उसकी आँखों से पता चलता है । प्रश्न: २) दूसरा प्रश्न हमें कृति करने के लिए दिया गया है हमें हाइकु में प्रयुक्त महीना और उसका ऋतु खोजने के लिए कहा गया है । हाइकु में फागुन महीना आया है और फागुन महीने में आने वाला ऋतु बसंत है । तो हमारा उत्तर हुआ : फागुन / फाल्गुन, बसंत  प्रश्न: ३) तीसरे

Vaktrutva Pratiyogita Me Pratham Sthan Pane Ke Uplaksh Mein Aapke Mitra Saheli Ne Aapko Badhayi Patra Bheja Hai Use Dhanyawad Dete Huye Nimnya Prarup Me Patra Likhiye

चित्र
  वक्‍तृत्‍व प्रतियोगिता में प्रथम स्‍थान पाने के उपलक्ष्य में आपके मित्र / सहेली ने आपको बधाई पत्र भेजा है, उसे धन्यवाद देते हुए निम्‍न प्रारूप में पत्र लिखिए : | कक्षा १० वीं मन कविता स्वाध्याय | Badhayi Patra | Class 10Th Patra Lekhan | Mr. Suryawanshi  २० अगस्त, २०२४ प्रिय मित्र मोहन,  नमस्कार ! Mohan@gmail.com तुम्हारा पत्र मिला । पत्र पढ़कर बहुत खुशी हुई । बधाई के लिए बहुत - बहुत धन्यवाद मित्र । मेरी इस उपलब्धि में तुम्हारा भी हक्क है । मुझे याद है कि तुम हमेशा से ही मुझे मंच पर जाने के लिए प्रोत्साहित करते थे । कक्षा सातवीं में जब मैं मंच पर जाने के लिए डर रहा था तब तुमने ही तो मेरा डर छूमंतर किया था । उसीका नतीजा है कि आज मैं बेझिजक मंच पर खड़े रहकर बोल सकता हूँ ।  मित्र, मेरी इस सफलता में तुम्हारे साथ ही साथ मेरी अध्यापिका सुजाता गायकवाड जी का भी हाथ है । तुमने मेरा डर भगाया और मेरी शिक्षिका ने मुझे सतत मार्गदर्शन किया । मैं दोनों का ही आभारी हूँ । मैं फिर से एक बार तुम्हे धन्यवाद कहता हूँ । तुम्हारे  माता - पिता को मेरा प्रणाम कहना । तुम्हारा मित्र, राजेश वाघमारे भीमनगर, कां

Hindi Vyakaran Karak Aur Karak Bhed | हिंदी व्याकरण कारक और कारक भेद

चित्र
  हिंदी व्याकरण - कारक और कारक भेद नमस्ते पाठकों, कारक किसे कहते हैं ? कारक चिह्न और कारक के आठ भेद , जैसे : कर्ता कारक, कर्म कारक, करण कारक, संप्रदान कारक, अपादान कारक, संबंध कारक, अधिकरण कारक और संबोधन कारक आदि के विषय में जानकारी प्राप्त करना हो, तो यह Hindi Vyakaran - Karak Aur Karak Bhed - Blog को जरूर पढ़िए । कारक | Karak | Mr. Suryawanshi  Karak Kise Kahaten Hain ? / कारक किसे कहते हैं ? कारक सीखने से पहले, यहाँ पर जो वाक्य दिए हैं इन वाक्यों में जो शब्द आएँ हैं उन शब्दों को हिंदी व्याकरण में क्या कहते है यह समझते है । पहला वाक्य है: १) बुद्ध शांति का पाठ पढ़ाते हैं ।   इस वाक्य में बुद्ध, शांति, और पाठ यह शब्द संज्ञा है । का कारक चिह्न है और पढ़ाते हैं यह शब्द क्रिया है ।  २) मुझे बेर खाना है । दूसरे वाक्य में, मुझे यह शब्द सर्वनाम है । बेर शब्द संज्ञा है और खाना है यह शब्द क्रिया है ।  आप कहेंगे कि हम तो ' कारक ' सीख रहे थे । परंतु इन दोनों वाक्यों में कारक आया ही नहीं ।  ऐसा नहीं है पाठकों इन दोनों वाक्यों में कारक है । मैं आपको कारक की परिभाषा बताता हूँ, परिभाषा

26 January | Republic Day Speech Hindi | Ganatantra Diwas Bhashan

चित्र
 गणतंत्र दिवस - भाषण | Republic Day - Speech | 26 January  नमस्ते, मेरा नाम रोहिणी है । यहाँ पर उपस्थित आदरणीय गण और मेरे स्नेही सहपाठियों को गणतंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं । आज हम हमारे ७५ वें गणतंत्र दिवस को मनाने हेतु यहाँ एकत्रित हुए है । गणतंत्र दिवस मनाने से पूर्व मेरा एक सवाल है । क्या मैं आप से पूछ सकती हूँ ? जी हाँ, आप । आपका नाम क्या है ? अंजली: मेरा नाम अंजली है । रोहिणी: अंजली, क्या आप भी यहाँ गणतंत्र दिवस मनाने आई हो ? अंजली: हाँ ! रोहिणी: क्या आपको गणतंत्र दिवस का अर्थ पता है ? अंजली: मुझे गणतंत्र दिवस को इंग्लिश में क्या कहते है, यह पता है । रोहिणी: ठीक है, बताइए । अंजली: गणतंत्र दिवस को English में Republic Day कहते है । रोहिणी: बहुत खूब अंजली । क्या आप मुझे बता सकते हो, यह कौन है ? अंजली: इनका नाम अमिताब बच्चन जी है । रोहिणी: और क्या जानती हो इनके बारे में ? अंजली: यह, कौन बनेगा करोड़ पति में आते है । रोहिणी: और । अंजली: अमिताब बच्चन जी actor है, इनके बेटे का नाम अभिषेक बच्चन है, वह भी actor है । इनकी बहू भी actress है, उनका नाम ऐश्वर्या राय है । इनकी पोती का